कवई मछलियाँ - मछलीघरो की शान

कवई मछलियाँ एक तरह की घरेलू मछलियाँ होती है जिन्हें की तालाबो और मछलीघरो में रखा जाता है | यह मछलियाँ साफ़ पानी में रहने वाली होती है | इन मछलियों में कई प्रकार के रंग और आकृतियाँ होती है | और इनकी पहचान भी अपने रंग और डिजाईन की वजह से ही होतीं है, यही कारण है की इन्हें मछलीघरो में रखा जाता है | यह ज्यादातार लाल, हरे, काले, सफ़ेद, पीले और नीले रंग में होती है |

कवई मछलियाँ एक तरह की घरेलू मछलियाँ होती है जिन्हें की तालाबो और मछलीघरो में रखा जाता है | यह मछलियाँ साफ़ पानी में रहने वाली होती है | इन मछलियों में कई प्रकार के रंग और आकृतियाँ होती है | और इनकी पहचान भी अपने रंग और डिजाईन की वजह से ही होतीं है, यही कारण है की इन्हें मछलीघरो में रखा जाता है | यह ज्यादातार लाल, हरे, काले, सफ़ेद, पीले और नीले रंग में होती है | परन्तु अब संकरण की वजह से इनमें और भी बहुत सरे रंग देखे जाते है |


कवई मछलियों में सबसे विख्यात प्रजाति है गोसंके कवई | यह मछलियाँ ठन्डे पानी वाली होती है और यह अपने आस पास के माहोल में बहुत जल्दी घुल मिल जाती है | इनही कारणों से इन्हें घरो में रखा जाता है | यह मछलियाँ अपने आप को वातावरण के अनुकूल बना लेती है जिस कारण इनकी ज्यादा देख भाल भी नहीं करी पड़ती है |


इन मछलियों का रंग हर युग के साथ और भी विकसित होता जाता है | और इनकी तव्चा पे और भी अद्भुत तरह की आकृतियाँ विकसित हो रही है | इन मछलियों की लम्बाई लगभग 3 - 3.30 फीट तक होती है | यह अपनी अधिकतम लम्बाई हासिल करने से पहले हर रोज लगभग 1 सेंटीमीटर तक बढती है | इनके शारीर के आकार में कोई खास विवधता नहीं होती है और लगभग सभी एक ही आकार में विकसित होती है, बस यह अपने रंग और आकृतियों में अलग अलग होती है |


इन मछलियों की प्रतिरक्षा शक्ति बहुत कम होती है | हालांकि यह मछलियाँ ठन्डे पानी में रहने वाली होती है परन्तु अगर पानी का तापमान 10 ̊c के निचे जाता है तो उस तापमान में इन मछलियों का बच पाना बहुत मुश्किल होता है | 15̊-25 ̊c तक का तापमान इनके लिए उपयुक्त होता है | कवई मछलियाँ अपना खाना पानी के अन्दर ही खा लेती है परन्तु जब से इन्हें मछलीघरो और तालाबो में पाला जाने लगा तब तब से इन मछलियों ने पानी के ऊपर आके खाना खाना सीख लिया है | पानी के ऊपर खाना देना का एक और मकसद था ताकि इन मछलियों की बिमारियों और संक्रमण को जाँचा जा सके |


 अब इन मछलियों ने अपने आप को इतना विकसित कर लिया है कि यह खाना खिलने वाले व्यक्ति को पहचान लेती है और अपने आप ही पानी के ऊपर आ जाती है | अब तो इन मछलियों को इतना सिखा दिया गया है कि यह पानी से छलांग लगा कर खुद हाथ से खाना ले लेती है |

COMMENTS

BLOGGER: 1
Loading...
recentpost
Name

ab de villiers,1,Account,2,Administrative Tools,1,AIIMS,2,Air Force,1,Aircraft,1,Aishwarya Rai,1,america,3,Army,1,Asia,1,Assam,1,Austria,1,Bahamas,1,Bank,1,Beauty with Purpose,1,bermuda triangle,1,Beta Version,1,Birds,1,black money,1,blood pressure,1,Blue Mark,1,Boatlift,1,Boats,1,Bootable,1,branded showroom,1,Brazil,1,Britannic,1,California,1,Cambridge University,1,cancer,1,Cartoon Network,1,Center of Universe,1,Central Government,2,charcoal,1,college,1,Command Prompt,1,Company,1,computer,2,Con Artist,1,Cricket,1,crorepati,1,Currency,1,Defence,1,deforestation,1,Delhi Metro,1,Delhi University,1,Deshbandhu College,1,Dexter's Laboratory,1,diabetes,1,Diana Hayden,1,Digital India,1,DMRC,1,DTC,1,du,1,Eiffel Tower,1,Election Comission,1,Electric Car,1,Eleuthera Island,1,Emerald,1,Encryption,1,England,1,Environment,1,Facebook,1,Femina,1,FIFA World cup 2018,1,Flathead,1,food safety,1,Foraminifera,1,France,1,Game Freak,1,Gauchos na Copa,1,Germany,1,Glacier,1,Gmail,1,google,1,Gosanke Fish,1,government,1,heal without pill,1,Himachal Pradesh,1,hindu college,1,History Channel,1,Hochschwab Mountains,1,Hyper Loop,1,Indian Railway,1,Investment,1,IRDAI,1,Ireland,1,Island,1,Japan,2,Johnny Bravo,1,kenya,1,Kerr Dam,1,kidney,1,Koi Fish,1,Lake,1,LIC,1,Lifetime Entertainment,1,Lithium ion Battery,1,London,1,lsr college,1,Madras,1,maggi,1,Make In India,3,mall,1,Manhattan,1,manhattanhenge,1,Mentrual Hygiene,1,Message,1,Messenger,1,Metro,1,miami,1,Migratory,1,miranda house college,1,Miss India,1,Miss World,1,Missiles,1,Mississippi River,1,MNC,1,Molai Forest,1,Montana,1,moti lal nehru college,1,Mr. 360,1,MS Office,1,NAAC,1,National Award,1,Navy,2,Note Machine,1,NPCI,1,Oklahoma City,1,Olympic,1,one rupee,1,Paris,1,PayPal,1,Paytm,2,Pendrive,2,pikachu,1,Pink sand,1,Placement,1,play store,1,Poem,1,Poetry,1,Pokemon,1,Pollution,1,powers,1,President,1,Priyanka Chopra,1,Pure Water,1,ram lal anand college,1,readyboost,1,Rita Fariya,1,Roads,1,rubik cube,1,Sanam Re,1,scientist,1,seedballs,1,server,1,Settings,1,showroom,1,Software,1,solstice,1,south Africa,1,South Korea,1,South Western Railway,1,Space X,1,Sponsors,1,SSUP,1,st. stephens college,1,Stanford University,1,Startup,1,Stewardess,1,Styria,1,supernatural,1,Task Manager,1,Tata,1,Tata Consultancy Service,1,TATA Consultancy Services,1,Tech.,1,Terrorist,1,Tesla,1,Tez,1,The Pawn Stars,1,The Powerpuff Girls,1,Titanic,1,toys,1,Transformation,1,triangle,1,TRP,1,UGC,1,Universe,1,Universities,1,Unsinkable,1,UPI,1,USA,1,Uttar Pradesh,1,Vishwavidyalaya,1,Waste Water,1,Water sports,1,Whatsapp,3,wheat grass,1,Window,1,Windows,3,world,1,World Trade Center,1,world war 2,1,Yukta Mukheey,1,
ltr
item
Ashwani Pundhir: कवई मछलियाँ - मछलीघरो की शान
कवई मछलियाँ - मछलीघरो की शान
कवई मछलियाँ एक तरह की घरेलू मछलियाँ होती है जिन्हें की तालाबो और मछलीघरो में रखा जाता है | यह मछलियाँ साफ़ पानी में रहने वाली होती है | इन मछलियों में कई प्रकार के रंग और आकृतियाँ होती है | और इनकी पहचान भी अपने रंग और डिजाईन की वजह से ही होतीं है, यही कारण है की इन्हें मछलीघरो में रखा जाता है | यह ज्यादातार लाल, हरे, काले, सफ़ेद, पीले और नीले रंग में होती है |
https://1.bp.blogspot.com/-XNjIA81Dkrw/Wp6RUzj7gzI/AAAAAAAAB0Y/_R9sDiUAqQUOvGm3geAYA1862tOC5ObjQCEwYBhgL/s320/179038071.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-XNjIA81Dkrw/Wp6RUzj7gzI/AAAAAAAAB0Y/_R9sDiUAqQUOvGm3geAYA1862tOC5ObjQCEwYBhgL/s72-c/179038071.jpg
Ashwani Pundhir
http://www.ashwaniblogs.com/2018/03/koi-fish-show-of-aquariums-in-hindi.html
http://www.ashwaniblogs.com/
http://www.ashwaniblogs.com/
http://www.ashwaniblogs.com/2018/03/koi-fish-show-of-aquariums-in-hindi.html
true
7180818062242658976
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy