Seekers will always find a way to get to the truth and the only way to truth is through knowledge. But how is one supposed to get knowledge? The answer is simple: by being curious;and the best part about being curious is that it feels like being a kid again. Welcome to my blog, where I present to you my knowledge comprising interesting facts, narratives,descriptions and imagery in the most concise way possible. Stay curious folks!

Rent a Bicycle by Delhi Metro Rail Corporation

दिल्ली मेट्रो अपने आप में ही एक बहुत बड़ा नाम बन चूका है | जो की एक दिन में लगभग लाखो लोगो को उनकी मंजिल तक पहुँचता है | मेट्रो का नेटवर्क लगभग पुरे दिल्ली में ही फेला हुआ है और जहाँ मेट्रो नहीं है, वहां मेट्रो को पहुँचाने का काम चल रहा है | यह न सिर्फ पूरी दिल्ली को अपसा में जोडती है बल्कि आस पास के इलाकों को भी जोडती है जैसे की नॉएडा, गुरुग्राम (गुडगांव), फरीदाबाद |

दिल्ली मेट्रो अपने आप में ही एक बहुत बड़ा नाम बन चूका है | जो की एक दिन में लगभग लाखो लोगो को उनकी मंजिल तक पहुँचता है | मेट्रो का नेटवर्क लगभग पुरे दिल्ली में ही फेला हुआ है और जहाँ मेट्रो नहीं है, वहां मेट्रो को पहुँचाने का काम चल रहा है | यह न सिर्फ पूरी दिल्ली को अपसा में जोडती है बल्कि आस पास के इलाकों को भी जोडती है जैसे की नॉएडा, गुरुग्राम (गुडगांव), फरीदाबाद |



दिल्ली मेट्रो अपने यात्रियों का धयान सिर्फ मेट्रो परिसर में ही नहीं बल्कि मेट्रो परिसर के बहार भी रखती है | यात्री मेट्रो तक आराम से पहुँच सके इसके लिए metro ने कई प्रकार की व्यवस्था कर राखी है | जैसे की दो मेट्रो लाइनों को जोड़ने के लिए मेट्रो फीडर बस चलती है |



बड़ते प्रदूषण और जल वायु परिवर्तन को धयान में रखते हुए दिल्ली मेट्रो ने एक नई योजना शुरू की है- RENT A BICYCLE. इसके तहत यात्री metro परिसर के बहर से साइकिल को किराय पे ले सकते है और उसे कहीं भी घुमा सकते है | अभी इस योजना को कुछ ही मेट्रो स्टेशन पे शुरू किया गया है |


·        साकेत मेट्रो
·        विश्वविद्यालय मेट्रो
·        अक्षरधाम मेट्रो
·        हौजखास मेट्रो
·        द्वारका सेक्टर 14 मेट्रो
·        बाराखम्बा रोड मेट्रो 
·        पटेल चौक मेट्रो
·        मंडी हाउस मेट्रो
·        शास्त्री पार्क मेट्रो


इन सभी मेट्रो स्टेशनों से साइकिल किराय पे ली जा सकती है | इस किराया 10 प्रति घंटे के हिसाब से होता है | इसके साथ ही सिक्यूरिटी के तौर पर एक ओरिजिनल ई.डी कार्ड रखना पड़ता है जो की साइकिल बापस करते समय लौटा दिया जाता है |


इन सभी मेट्रो स्टेशनों के आस पास की जगहों का मज़ा साइकिल से लिया जा सकता है | इन साइकल्स का सबसे ज्यादा प्रयोग विश्वविद्यालय मेट्रो से होता है, जहाँ स्टूडेंट्स आके साइकिल किराय पे लेते है | यहाँ लगभग रोज 50-60 बच्चे साइकिल किराय पे लेते है और साथ ही बहुत सरे बच्चो को निराशा हाथ लगती है क्योंकि अभी साइकल्स की संख्या सिर्फ 25 है | जिस वजह से काफी बच्चो को निराश भी होना पड़ता है |



इंडिया गेट और राष्ट्रपति भवन घुमने वालो के लिए भी साइकिल बहुत सहायक साबित होती है | इसके साथ ही लोग साइकल्स से CP (Connaught Place) घुमने का मज़ा भी लेते है |  
Labels:

Post a Comment

[blogger][facebook]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget