Seekers will always find a way to get to the truth and the only way to truth is through knowledge. But how is one supposed to get knowledge? The answer is simple: by being curious;and the best part about being curious is that it feels like being a kid again. Welcome to my blog, where I present to you my knowledge comprising interesting facts, narratives,descriptions and imagery in the most concise way possible. Stay curious folks!

How to Optimize your Hard Disk in Hindi

आज कल हर किसी के पास computer या laptop होता है | जो की हर कोई संबाल के इस्तेमाल करता है | पर ऐसा देखा जाता है की जैसे जैसे computer पुराना होता जाता है उसकी processing स्पीड कम होने लगती है | कुछ लोग कहते है processor ख़राब होने लगा है कुछ कहते है कि computer की ram कम है| पर ऐसा नहीं होता है | क्योंकि जब आपका computer नया आया था तब भी उसमें वही processor था और वही ram थी पर तब तो वोह बहुत ही आराम से चलता रहता था कभी भी hang नहीं होता था |


 आज कल हर किसी के पास computer या laptop होता है | जो की हर कोई संबाल के इस्तेमाल करता है | पर ऐसा देखा जाता है की जैसे जैसे computer पुराना होता जाता है उसकी processing स्पीड कम होने लगती है | कुछ लोग कहते है processor ख़राब होने लगा है कुछ कहते है कि computer की ram कम है| पर ऐसा नहीं होता है | क्योंकि जब आपका computer नया आया था तब भी उसमें वही processor था और वही ram थी पर तब तो वोह बहुत ही आराम से चलता रहता था कभी भी hang नहीं होता था |

जैसे जैसे आपका computer पुराना होने लगता है वैसे वैसे उसकी hard disk की efficiency कम होने लगती है जिसकी वजह से computer की drives खुलने में time लगता है | और उसी वजह से हमारे software भी स्लो वर्क करते है | जिस वजह से लोग कहते है window ख़राब होने लगी है या computer का processor ख़राब हो रहा है तभी आपका computer इतना स्लो चल रहा है | पर ऐसा कुछ नहीं होता है |

जब हमारा computer पुराना होने लगता है तो उसके साथं हमारी computer की hard disk भी पुरानी होने लगती है| जिसे हम computer की language में कहते है hard disk का Fragmented होना | जैसे जैसे आपकी hard disk fragmented होती जियेगी वैसे वैसे आपका computer स्लो और hang होना चालू हो जायेगा | और ज्यादातर ऐसा देखा गया है की जिस drive में windows install होती है वही drive सबसे ज्यादा fragmented होती है जिसकी वजह से ही computer स्लो होने कगते है |

इस problem को सही करने के लिए hard disk को defragment करना बहुत जरुरी होता है | अगर आपकी hard disk ज्यादा लम्बे समय के fragmented रहेगी तो आपकी hard disk permanently fragmented हो सकती है इस लिए जरुरी होता है की अप अपने computer की maintenance करे | अगर आप अपने computer को रेगुलर इंटरवल पर defragment करते है तो आपके computer की efficiency सालो बाद भी वैसी ही बनी रहेगी |

Hard Disk को defragment करने के लिए वैसे तो बहुत सरे software नेट पर पड़े हुए है पर बेहतर होता है की अगर आप windows के tools को use करके ही अपनी disk को defragment करें |

Hard Disk को defragment करना बहुत ही आसन है | इसके लिए किसी भी तरह के कोई internet कनेक्शन की जरुरत नहीं होती है इसका tool control panel में ही मौजूद होता है बस हमें उसे use करने की जरुरत होती है |

अपनी Disk को defragment करने के लिए सबसे पहले आपको अपने computer में control panel खोलना होगा |

control panel खुलने के बाद आपको System and securities में जाना पड़ेगा |


उसमें आपको Administrative tools में दिख रहे Defragment एंड Optimize your Drives पे click करना है |


उसपे click करते ही एक नई window खुलेगी | जिसमें आप अपनी ड्राइव्स को Analyse कर सकते है की वो कितने ज्यादा fragmented है|


और जब Analyse हो जाये तो आप उसको defragment कर सकते है उसमें आपको पता चल जायेगा की आपकी disk कितने जायदा fragmented है |

और जब आप एक बार अपनी सारी drives को Optimize कर ले तो अपने computer को एक बार Restart कर ले |


Restart होने के बाद आपका computer फिर से अपने पुराने तरीके से काम करने लगेगा |  

Post a Comment

[blogger][facebook]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget